सांख्ययोगाचार्य स्वामी हरिहरानन्द आरण्य १९२८ साल मॆं कापिल मठ की स्थापना की.